खुजली की कारण और खुजली की अचूक दवा

खुजली-की-अचूक-दवा

खुजली के कारण ज़्यादा नमक ,खती खाकर सफर करना ,शरीर पर मठी लगने,ज़्यादा सौदे वाला साबुन उसे कारण बदहजमी में सेक्स करना,शरीर में गलत दवा जाना,हती घोरा की सवारी करना  शरीर में अलोधा हवा जाना,जिस के वजह से खुजली या एलर्जी होती है ये बीमारी उं मले फीमेल को ज़्यादा होती है जिन के जिल्द ज़्यादा हसास होते है

* खुजली की दवा करेले का रस खारिज वाली जगह पर मलय और थोड़ा सा नमक मिला कर भी पइ 
* पेसी सोंठ दो चुटकी करेले के रस मिएं मिला कर पेयेई 
* शरीर पर नरील या तेलो का तेल की मालिश करें
* एक स्पों अदरक का रस मैं चार ग्राम पुराना घुर मिला कर उसे करें इस से खारिज का इलाज हुजता है 

* अगर घर्मी के दिन है तो तरबोज के रस मिएं कली नमक मिला कर पाई 
* खुजली की दवा के लिए 100 ग्राम शलजम के पानी को उबले फिर इस को ठंडा करके शरीर पर मलाई 
* खाचे अलो का रस खुजली के जगह पर मलाई और पी भी ले 
* अनानास का रस खुजली वाली जगह पर मलाई 
*मीठी की पटो को पीस कर कर खुजली वाली जगह पर लगाए 
* खाधो के बीजों को पीस कर शहेड के साथ सुभा दूफर और शाम को छाती 

* खुजली की एकुक दवा के लिए मतार के दानों को पानी में उबाल कर मतार अलग करें फर इस पानी में थोड़ा सा नमक डाल कर शरीर को धोइए 
* तरपीन का तेल सरसों के तेल में मिला कर मालिश करें इस खुजली की अचूक दवा होजता है


 khujli-ka-ilaj


Khujli Ki Dawa Aur Lakshan


khujli ke kaaran zyaada namak ,khatee khaakar safar karna ,shareer par mathee lagna,zyaada saude waala saabun use karna badhazmee mein hambistri karna,shareer mein galat dawa jaana,hatee ghora kee savari karna shareer mein alodha hava jaana,jis ke vajah se khujli ya allergy hotee hai ye bimari un male femele ko zyaada hotee hai jin ke jild zyaada hasaas hote hai


* khujli ka ilaj karele ka ras kharish waali jagah par malay aur thoda sa namak mila kar bhi pai 
* pesee sonth do chutkee karela ke ras mien mila kar peyeee 
* shareer par nareel ya telo ka tel kee maalish karen
* ek spon adarak ka ras main chaar graam puraana ghur mila kar use karen is se 
khujli ka ilaj hujata hai 
* agar gharmee ke din hai to tarboj ke ras mien kalee namak mila kar paee 


khujli ka ilaj ke lie 100 graam shalajam ke paanee ko ubale phir is ko thanda karake shareer par malaee 
* khaache alo ka ras 
kharish ke jagah par malaee aur pee bhee le 
* anaanaas ka ras 
kharish waali jagah par malaee 
*meethee kee pato ko pees kar kar 
kharish waali jagah par lagae 

* khaadho ke beejon ko pees kar shahed ke saath subha doophar aur shaam ko chhaatee 
kharish ka ilaj 
 ke lie mataar ke daanon ko paanee mein ubaal kar mataar alag karen phar is paanee mein thoda sa namak daal kar shareer ko dhoie 
* tarapeen ka tel sarason ke tel mein mila kar maalish karen is kharish ka ilaj hojata hai

No comments:

Powered by Blogger.